How to Face Problems in life in Hindi

नमस्कार मेरे प्यारे मित्रों, आज की यह पोस्ट आपके लिए बेहद आवश्यक है क्योंकि इसमें मैंने यह बताया है कि हम अपनी जिंदगी में आने वाली कठिन से कठिन समस्या को कैसे हल करें अर्थात लाइफ में आने वाली प्रॉब्लम का सामना कैसे करें। यकीन मानिए यह पोस्ट पढ़ने के बाद आप अपनी जिंदगी को जीने का तरीका बदल देंगे और हर समस्या को हंसते-हंसते सुलझा लेंगे।

दुनिया की कठिन से कठिन समस्या कैसे हल करें उससे संबंधित है महत्वपूर्ण जानकारी आप हासिल करने जा रहे हैं और मैं आपको क्रमिक रूप से स्टेप बाय स्टेप यह तरीका बताऊंगा।

मैं आपको जो तरीका आज बताने जा रहा हूं जय सभी समस्याओं का रामबाण इलाज है।

असल में प्रकृति हमारी मदद हर एक स्तर पर करती है और हमारा मार्गदर्शन करती है यदि हम प्रकृति की भाषा नहीं समझ सकते तो हम जीवन पर्यंत घोर अज्ञानता के अंधकार में खोए रहेंगे ।

मैं आपको बताना चाहूंगा, कि किसी भी समस्या को हल करने के लिए सर्वप्रथम उसे छोटे-छोटे भागों में बांटना अति आवश्यक है चलिए मैं आपको एक उदाहरण देता हूं जिससे आप बेहतर समझ सके। अगर मैं आपसे कहूं आप एक घूट में 10 लीटर पानी पीजिए तो आप संभवतः उसे नहीं पी पाएंगे लेकिन अगर मैं आपसे यह कहूं कि आप पूरे दिन में थोड़ा-थोड़ा करके 10 लीटर पानी पीजिए तो आप उसे बड़ी ही आसानी से पी सकते हैं।

चलिए मैं आपको एक दूसरा उदाहरण देता हूं जो आपकी लाइफ से पूर्णतया संबंधित है दोस्तों हम सभी के घरो सीढिया तो होती ही है तो अगर मैं कहूं कि आप अपने घर में 10 सीढिया एक बार में चढ़िये। तो संभवत आपके लिए यह एक असंभव होगा लेकिन अगर मैं कहूं कि आप एक एक करके 10 सीढिया चढ़िये तो आप चुटकी बजाते ही ये कार्य कर लेंगे ।

यही नहीं आप यह प्रक्रिया कई बार बड़ी ही आसानी से कर सकते है ।

आप मेरे कहने का आशय तो समझ ही गए हैं  की समस्या को हल करने के लिए छोटे-छोटे टुकड़ों में बांटना अत्यंत आवश्यक है तभी आप उस समस्या को समूल नष्ट कर सकते हैं चलिए हम आपकी समस्या को क्रमवार रूप से हल करने का प्रयास करते हैं।

🎯 हम आपकी समस्या को 7 चरणों में हम करेंगे 🎯

चरण 1.  समस्या का ज्ञान 👉

  किसी भी समस्या को हल करने के पूर्व आप का सबसे पहला उत्तरदायित्व यही है कि आप उस समस्या का पूर्ण ज्ञान कर ले कि वह समस्या आखिर में है क्या?

जब आप पूर्णतया आश्वस्त हो जाएं कि आपको क्या समस्या है तब आप दूसरे चरण की ओर प्रस्थान करें।

सातों चरणों को भली-भांति समझाने के लिए मैं एक उदाहरण को साथ साथ लेकर चलता हूं मान कर चलिए आपको एक नदी को पार करना है तो यह आप की मूल समस्या होगी आप उस नदी को कैसे पार करें 

प्रथम चरण के अनुसार आपको समस्या का ज्ञान है कि आपको नदी पार करनी है🏊🏻‍♂️🏊🏻‍♂️ अब हम द्वितीय चरण की ओर बढ़ते है ।

चरण 2.  समस्या समाधान के लिए तर्क वितर्क एवं विचार विमर्श करना👉

समस्या का पूर्ण ज्ञान कर लेने के पश्चात हमें इस बात पर विचार करना चाहिए कि समस्या समाधान हेतु कौन-कौन से कार्य कर सकते हैं इसके लिए जरूरी नहीं कि तुरंत कोई निर्णय लिया जाए ।उपयुक्त शुभचिंतकों से राय ले सकते हैं और अपने सुझाव भी प्रस्तुत कर सकते हैं।

अगर हम अपने उदाहरण की ओर देखें, तो तुम्हे यह पता लगाना है कि हम नदी के उस पार किस उद्देश्य से जाना चाहते हैं और उस पार जाने के लिए हमें कौन से कार्य करने चाहिए क्या हमें तैरकर पार करना चाहिए या फिर हमें अपने लिए एक नाव बनानी चाहिए और जब यह आप निर्धारित कर ले तब आप अपने तीसरे चरण पर जाने के योग्य हो चके होते है।

How to face problems in life

चरण 3:- योजना चुनाव एवं निर्माण👉

तर्क वितर्क एवं विचार विमर्श करने के बाद समस्या को सुलझाने के लिए एक योजना का चयन करें और उसका निर्माण करें। 

किसी भी प्रयोजन की पूर्ति के लिए योजन का होना आवश्यक है और यदि आप योजन बनाने में सक्षम हैं तो आप संभवतः समस्या की युक्ति प्राप्त कर लेंगे।

 अगर हम उदाहरण की ओर देखे हैं तो आपको नाव बनाना चाहिए क्योंकि नौका निर्माण आपकी योजना का एक हिस्सा है क्योंकि नदी पार करना मुश्किल काम है जिसे हम नाव की मदद से आसानी से पार कर लेंगे।

 योजना का चुनाव मात्र कर लेने से ही आप समस्या का हल नहीं प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए आपको योजना का क्रियान्वयन व संचालन भी करना होता है चलिए हम बढ़ते हैं अपने अगले चरण की ओर।

How to face problems in life

चरण 4.   योजना पूर्ण करने के लिए आवश्यक सामग्री👉

योजना के अनुसार आप ने तय कर लिया आपको एक नाव बनानी है लेकिन यह तय करने से ही आपकी समस्या हल नहीं होगी इसके लिए आपको कुछ सामग्री की आवश्यकता होगी अर्थात अब आपको कुछ लकड़ी, बॉस व रस्सी आदि की आवश्यकता होगी अर्थात आपको अपनी योजना का निर्माण करने के लिए आवश्यक सामग्री भी जुटानी पड़ेगी ।

चरण 5:-  योजना संचालन👉

योजना का क्रियान्वयन करें और नदी को पार करें क्योकि आपकी समस्या नदी पार करना ही था ।

याद रहे हर एक चरण पर आपको यह मूल्यांकन अवश्य करना है कि हमारे हर चरण का परिणाम सकारात्मक होगा या नकारात्मक।

चरण 6.  निष्कर्ष👉

हर समस्या का समाधान करने पर हमें एक निष्कर्ष अवश्य प्राप्त होता है

जिसमें हमें यह ज्ञात होना चाहिए कि हमने समस्या को हल करने के लिए कितना समय व कितनी ऊर्जा व्यय की है।

कोशिश यही रहनी चाहिए की हमें जो परिणाम प्राप्त हो वह संतोषजनक हो ।

 अगर आपने सभी चरणों का क्रमवार पूर्ण निष्ठा से पालन किया है तो आपको परिणाम सकारात्मक ही प्राप्त होंगे। अब आपकी समस्या का हल तो हो गया लेकिन याद रहे आप भी एक चरण शेष है और यह चरण अधिकांश लोग नहीं पूरा करते जबकि यह चरण मानवता की दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण है।

तो चलिए देखते हैं सातवां एवं आखिरी चरण क्या है।

How to face problems in life

चरण 7.  परिणाम की सूचना दूसरों तक पहुंचाना

दोस्तों आप ही के जैसे इस दुनिया में बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो उस नदी को पार करेंगे और यदि आप अपने संघर्ष की कहानी लोगों से साझा की। कि आपने किस तरह से समस्या को क्रमवार रूप से बड़ी ही आसानी से सुलझा लिया तो यह जानकारी जनसमुदाय के हित का कार्य करेगी ।

ऐसा करने से आपका भी वर्चस्व बढ़ेगा और आप को ख्याति की प्राप्ति होगी ।

 आपने अपनी समस्याओं को कैसे हल किया यह बात बताने में संकोच नहीं करना चाहिए क्योंकि इंसान अपनी गलतियों से तो सीखता ही है अगर वह दूसरों की गलतियों से सीखना शुरू कर देता है तो यकीन मानिए वह इंसान अपनी जीवन में लक्ष्यों को कम समय व आसानी से प्राप्त कर सकता है।

पृथ्वी पर मानव शरीर पाने के बाद जीवन निर्वाह में समस्याएं तो हम सभी के पास होती हैं और यह हमें परेशानी में भी डाल देती हैं लेकिन अगर आप इन समस्याओं को समस्या के रूप में ना लेकर एक चुनौती व उत्तरदायित्व के रूप में ले । तो यहआपको कर्मठ, जुझारू एवं सफल बनाने में आपकी बहुत मदद करेंगी और आप बड़ी आसानी से अपनी जीवन की कठिनाइयों को एडवेंचर में बदल सकते हैं।

वास्तव में यह करने से आपको जीवन जीने में मजा आने लगेगा।

 आशा करता हूं यह पोस्ट पढ़कर आपको कुछ ना कुछ जरूर सीखने को मिला होगा। ऐसे ही ज्ञान प्रद  जानकारियों को प्राप्त करने के लिए gyanwing वेबसाइट पर विजिट करते रहे और ज्ञानार्जन करते रहें ।

धन्यवाद!

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Show Buttons
Hide Buttons