Marketing Strategy Kya Hai in hindi

दोस्तों इस पोस्ट “Marketing Strategy Kya Hai In Hindi” में आप मार्केटिंग के बारे में बहुत महत्वपूर्ण जानकारी जानने वाले हैं तो इस पोस्ट को ध्यान से पढ़िए।

 मार्केटिंग स्ट्रेटजी है क्या

 सबसे पहला तो यही सवाल है कि मार्केटिंग स्ट्रेटजी क्या है तो मैं आपको बताना चाहूंगा कि मार्केटिंग का अर्थ होता है अपने कारोबार को बढ़ाना या फैलाना और स्ट्रैटेजी का अर्थ है रणनीति अर्थात अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए जिन रणनीतियों का प्रयोग हम करते हैं उन्हें मार्केटिंग स्ट्रेटजी कहते हैं।

व्हाट इस मार्केटिंग स्ट्रेटेजी
Marketing Strategy Kya Hai in hindi

 मार्केटिंग स्ट्रेटजी के अंतर्गत अपने उत्पाद को बेहतर बनाने अपने उत्पाद को उपभोक्ताओं तक पहुंचाने अर्थात खरीदने व बेचने का काम होता है।

 मार्केटिंग स्ट्रेटजी के अंतर्गत long-term फायदों को ध्यान में रखकर, भविष्य की ओर अपना विकासात्मक दृष्टिकोण बनाते हुए एक रणनीति तैयार करना और उसी के आधार पर अपने लक्ष्य को प्राप्त करना आदि काम आते हैं।

 आजकल छोटी-बड़ी सभी कंपनियां मार्केटिंग स्ट्रेटजी का भरपूर प्रयोग करती हैं कंपनियों के सफलता के पीछे इनका बहुत बड़ा हाथ होता है बिना मार्केटिंग स्ट्रेटजी के कोई भी कंपनी आज के दौर में आगे नहीं निकल सकती।

 दोस्तों, हर एक आदमी यही चाहता है कि उसका व्यापार रातों-रात चल जाए और वह ढेरों रुपए कमाए लेकिन क्या इतना सोचने से आपका कारोबार आगे बढ़ेगा? बिल्कुल नहीं!

लेकिन हां सोचना भी बिज़नेस में एक आवश्यक प्रक्रिया है।

 काम की शुरुआत सोचने से होती है यदि आपसोचेंगे नहीं तो कोई भी काम नहीं करेंगे इसलिए सबसे पहले आप रणनीति तैयार करें कि आपको आप अपना सामान कैसे करना है।

  जब आप अपनी एक रूपरेखा तैयार कर ले तब उसके अनुसार अपना काम शुरू करें क्योंकि यह मार्केटिंग का दूसरा चरण है।

 दोस्तों, आप एक व्यापारी हैं आप चाहते कि आपका सामान बिक जाए तो इसके लिए जरूरी है कि आपका सामान सही व्यक्ति तक पहुंचे।

 अब यहां पर प्रश्न उठता है कि आपके पास 100 व्यक्तियों के लिए उत्पाद है और जरूरत केवल 50 व्यक्तियों को है तो बाकी के 50 व्यक्तियों को उस सामान को खरीदने के लिए कैसे मनाया जाए क्योंकि अगर आप उन्हें वह सामान भेजना चाहेंगे तो वह तुरंत मना कर देंगे।

 उपभोक्ता की न को हा मे कैसे बदले

 सबसे पहले एक बात मान कर चलिए अगर आपके उपभोक्ता को किसी सामान की आवश्यकता नहीं तो वह कुछ सामान को जल्दी खरीदना नहीं चाहेगा।

 इसलिए चलिए हम सबसे पहले जान लेते हैं कि उपभोक्ता सामान क्यों खरीदता है।

 एक ग्राहक सामान तभी खरीदा है जब या तो उसे उस सामान की आवश्यकता हो या उस सामान से उसी कोई लाभ हो या फिर उस सामान से उसे कोई मुनाफा हो।

 तो आपको यह समझना है कि आपके सामने खड़ा ग्राहक किस कैटेगरी का है क्या उसे उस वस्तु की आवश्यकता है या फिर वह उसका लाभ लेना चाहता है या फिर उससे मुनाफा कमाना चाहता है।

 जवाब ग्राहक की मनोदशा को समझ ले तो उसी के अनुसार उससे संप्रेषण करें घबराइए नहीं आपको पूरा प्रोसेस आगे समझाया जायेगा।

 सामान बेचने का तरीका

 मान कर चलिए आप एक पेन के व्यापारी हैं और आपके पास एक ग्राहक आता है और वह पेन खरीदना चाहता है तो आप उसे तुरंत पेन बेच देंगे।

 लेकिन अगर वह पेन खरीदने के बजाय थोड़ा सोचने समझने में वक्त बिताने लगा तो आप समझ जाए की उसे उस सामान की आवश्यकता कम है हो सकता है कोई दूसरा प्रयोजन हो।

तो अब आप अपनी मार्केटिंग स्ट्रेटजी का प्रयोग करके उसे पेन खरीदने के लिए कन्वेंस करेंगे।

(नोट: यहां पर ध्यान दीजिए पेन एक उदाहरण है आप अपना उत्पाद इसकी जगह पर रख सकते हैं)

अब यदि उपभोक्ता ने पेन नहीं खरीदा तो इसका मतलब उसे उसकी खास आवश्यकता नहीं तो आप दूसरे चरण पर चलेंगे और उसे आवश्यकता बताने के साथ साथ उस पिंकी खूबियां भी बताएंगे।

यदि ग्राहक खूबियां और सुविधाओं से कन्वेंस हो जाता है तो ठीक है नहीं तो तीसरे चरण पर चलें उसे उस पेन के प्रॉफिट के बारे में बताएं कि अगर वह 5 पेन खरीदेगा तो उस पर एक पेन फ्री मिलेगा।

असल में फ्री कुछ नहीं होता है इसलिए यह सोच कर मत घबराइए की आपका नुकसान हो जायगा सामान फ्री बेचने के पीछे भी एक मार्केटिंग स्ट्रेटेजी होती है जिसमे उस एक पेन का मूल्य बाकि के पांच पेनो में लगा दिया जाता है।

बेनिफिट & प्रॉफिट में क्या अंतर है

दोस्तों बेनिफिट का अर्थ है लाभ लेकिन प्रॉफिट का अर्थ है मुनाफा।

थोड़ा उदाहरण देकर मैं आपको समझाने की कोशिश करता हूं मान कर चलिए आपको भूख लगी तो आपने आधा दर्जन केला ₹20 मे लेकर खा लिया तो इससे लाभ यह है कि आपकी भूख मिट गई।

लेकिन अगर प्रॉफिट की बात करें तो उन केलो को ₹20 में खरीद कर ₹30 में बेच देने पर आपको ₹10 का मुनाफा या प्रॉफिट हो जाता है

मार्केटिंग स्ट्रेटजी के प्रकार

जब हम एक खास रणनीति अपनाकर के, जो सामान किसी उपभोक्ता को नहीं चाहिए फिर भी हम उसे वह सामान खरीदने के लिए मना लेते हैं तो वह मार्केटिंग स्ट्रेटजी के द्वारा ही संभव हो सकता है ऐसे में मार्केटिंग स्ट्रेटजी निम्नलिखित प्रकार से प्रयोग में लाई जाती है।

वातावरण: अपना कोई भी सामान बेचने के लिए एक विशेष वातावरण को होना आवश्यक है तभी वह सामान अधिक से अधिक उपभोक्ता खरीदेंगे।

मैं आपको साथ ही साथ उदाहरण भी देकर समझा दूंगा ताकि आप बात की पूरी गहराई को समझे।

वातावरण से संबंध इस बात से है कि अगर वर्षा ऋतु में आप छाता बेचेंगे तो विक्री अधिक होगी परन्तु अगर आप वही छाता जाड़े के मौसम में बेचेंगे तो आप कम लाभ कमाएंगे।

छाता को ना लेते हुए अगर हम रेफ्रिजरेटर की बात करें तो उसे केवल आप गर्मी में बेचकर अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं जाड़े में नहीं।

इस बात से यह तय होता है की वातावरण का मार्किट पर प्रभाव पड़ता है।

मार्केटिंग स्ट्रेटेजी बेसिक्स
Marketing Strategy Kya Hai in hindi

सही व्यक्ति एवं सही तरीका: दोस्तों अगर आपको एक बी.एम.डब्ल्यू कार बेचने के लिए कहा जाय तो आप किसी अमीर व्यक्ति को टारगेट करेंगे ना की किसी झोपड़ी में रहने वालेगरीब की जो की मोटर बाइक खरीदने में भी सक्षम नहीं है।

यहाँ पर सही तरीके से अर्थ है आत्म सम्मान क्योंकि हर एक व्यक्ति का अपना अलग हीआत्मसंम्मान होता है क्योंकि मार्केट में आप अकेले नहीं है जो उसे सामान बेचने के लिए उत्सुक हैं आपके जैसे आपके प्रतिद्वंदी भी उसके पास में सामान बेचने के लिए जाएंगे ऐसे में आप अगर उसे सम्मान देकर, भाव भंगिमा से उसे प्रभावित करके अपना काम करे तो मार्केटिंग को आसान बना सकते हैं।

सही समय: दोस्तों सामान को बेचने के लिए सही समय भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है मान कर चलिए एक उदाहरण लेते हैं अगर आप स्कूली बच्चों की ड्रेस बेचते हैं तो आप उस ड्रेस को एडमिशन के टाइम पर ज्यादा बेचने की कोशिश करें तो आपका बिजनेस ज्यादा तेजी से चलेगा ऐसा नहीं है कि जब स्कूल बंद हो जाये तब आप ड्रेस को बेचने के लिए निकले।

इसलिए आप समझ ही गए होंगे कि मार्केटिंग में सही समय पर सही फैसला लेना कितना आवश्यक है।

दोस्तों आपके लिए यह कुछ टिप्स थे अभी बहुत कुछ जानना आपको बाकी है आगेअधिक जानने के लिए आगामी पोस्ट को पढ़े।

उम्मीद करता हूं आज की यह पोस्ट “Marketing Strategy Kya Hai” आपको बेहद पसंद आई होगी ऐसे ही महत्वपूर्ण जानकारियां आपके लिए gyanwing वेबसाइट पर उपलब्ध रहती हैं तो आप विजिट करके इनका लाभ उठा सकते हैं। धन्यवाद!

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

show
hide