Online Class karne ke Fayde aur Nuksan

नमस्कार, प्रिय पाठको “ऑनलाइन क्लास के फायदे एवं नुकसान” आज मैं आपसे इसी विषय पर बात करूंगा। जैसा कि आप सभी जानते हैं कि आजकल सभी कार्य ऑनलाइन होने लगे हैं ऐसे में हमारी पढ़ाई भला पीछे कैसे रह सकती है।

हर चीजों के कुछ फायदे एवं नुकसान जैसे दो पहलू होते है और बात हो हमारी शिक्षा को ऑनलाइन माध्यम से प्राप्त करने की तो कुछ लोगों को ऑनलाइन पढ़ाई करने में फायदे नजर आते हैं तो कुछ लोग उसके नुकसान भी नजर आते हैं क्योंकि उनका ऐसा मानना है कि शिक्षा का उत्तम कार्य भौतिक रूप से कक्षा कक्ष के क्रियान्वयन के द्वारा ही संभव है।

 वहीं कुछ लोगों को ऑफलाइन कोचिंग करने में फायदे नजर आते हैं आज मैं आपके मन में उठने वाली समस्त जिज्ञासाओं को शांत कर दूंगा कि कौन सी ऑनलाइन ये ऑफलाइन क्लास करना बेहतर है या नहीं तो चलिए ले चलते हैं आपको मूल तथ्यों को तरफ, ताकि आप आस्वस्त हो सके ।

Online coaching karne ke fayde aur nuksan

 सर्वप्रथम हम ऑनलाइन क्लास करने के फायदे बताएंगे।

 * ऑनलाइन पढ़ाई करने के 10 फायदे *

ऑनलाइन पढाई करने के १० फायदे निम्नवत है :-

  •   ऑनलाइन पढ़ाई करने का एक फायदा यह है कि इसमें आपका काफी समय बच जाता है जो आप ऑफलाइन कोचिंग में नष्ट कर देते हैं अर्थात की कोचिंग या क्लास तक पहुंचने और वहां से वापस घर आने में जो समय लगता है वह नष्ट होने से बच जाता है और उस समय का सदुपयोग आप अन्य  कार्यों में कर सकते हैं।
  • ऑनलाइन पढ़ाई करने का दूसरा फायदा यह है कि इसमें आपका धन बचता है यानी कि जब आप अपनी कक्षा तक पहुंचते हैं। उस दौरान आप किसी साधन का प्रयोग करते हैं या अगर आप अपने घर से बाहर कहीं दूर जाकर पढ़ाई कर रहे हैं और आपने किराए का मकान ले रखा है तो उस मकान का किराया और भी बहुत सारे खर्चे से आप बच जाते हैं।
  • ऑनलाइन पढ़ाई करने का अगला फायदा यह है कि इसमें आप अधिक एकाग्र होकर पढ़ाई कर सकते हैं क्योंकि कक्षा में बैठकर यदि चारों ओर शोर आदि हो रहा है तो विद्यार्थी का ध्यान भंग होना आम बात है और ऐसे में  एकाग्रता नष्ट हो जाती है और हम प्रकरण को भली-भांति नहीं समझ पाते हैं।
Online coaching karne ke fayde aur nuksan
  •   ऑनलाइन पढ़ाई करने का अन्य फायदा है यह भी है कि समय आपके अनुकूल रहता है। अर्थात यदि आप निर्धारित समय पर पढ़ाई करने में सक्षम नहीं है तो आप कुछ समय बाद भी ऑनलाइन क्लास को पढ़ सकते हैं क्योंकि वह डाटा भविष्य में पुनः इस्तेमाल करने के लिए स्टोर करके रखा जाता है लेकिन ऑफलाइन क्लास में ऐसा नहीं होता अगर आपने एक बार अवसर गवां दिया तो आप यकीन मानिए आपका ज्ञानार्जन बाधित हो जाता है।
  •   ऑनलाइन क्लास पढ़ने का एक फायदा यह है कि आप समय का अपने हिसाब से प्रबंधन कर सकते हैं अर्थात यदि आप क्लास कर रहे हैं और अचानक आपका कोई अन्य जरूरी कार्य पड़ जाता है तो आप कक्षा को वहीं पर रोक कर उस कार्य को करने के लिए जा सकते हैं और समस्त कार्य निपटाने के बाद वापस आकर अपने क्लास को पुनः जारी कर सकते है।
  •   ऑनलाइन क्लास पढ़ने के फायदे तो बहुत है लेकिन अगला फायदा यह है कि अगर आपको अचानक कहीं यात्रा पर जाना पड़े या फिर आप बीमार हो जाए तो आपका ज्ञानार्जन कार्य बाधित नहीं होगा और जिसका प्रभाव आपको करोना महामारी के दौरान लॉकडाउन में भी दिखा ही होगा की कैसे लोगो ने घर बैठे ऑनलाइन क्लास शुरू कर दी । लेकिन ऑफलाइन क्लास में आपको घर बैठना पड़ता है और आपका काफी नुकसान होता है ।
Online coaching karne ke fayde aur nuksan
  •   ऑनलाइन क्लास में शिक्षण कार्य समावेशित रूप से होता है अर्थात सभी विद्यार्थी को समान रूप से देखा जाता है। आपने अक्सर देखा होगा कि ऑफलाइन क्लास में कुछ छात्र गुरु जी के प्रिय हो जाते हैं और गुरु जी उन पर अधिक ध्यान देते हैं पर ऑनलाइन क्लास में ऐसा नहीं है वह शिक्षण कार्य करते हैं और हम सभी एक समान रूप से उसका लाभ उठाते हैं।
  •  ऑनलाइन क्लास पढ़ते समय अगर आप श्यामपट्ट पर लिखी हुई सामग्री को नहीं लिखना चाहते तो उसका स्क्रीनशॉट ले सकते हैं। जिससे आप के समय की बचत होती है और आपको थोड़ी सहूलियत मिल जाती है जबकि ऑफलाइन क्लास में ऐसा नहीं होता, गुरुजी कभी-कभी जल्दबाजी में श्यामपट्ट को साफ कर देते हैं और हमारा नुकसान हो जाता है।
  • ऑनलाइन क्लास को हम अक्सर अनौपचारिक रूप से लेते हैं अर्थात इसमें किसी विशेष वातावरण, वेशभूषा आदि की जरूरत नहीं होती। हम अपने बिस्तर पर बैठ कर, लेट कर क्लास को अटेंड कर सकते हैं  यहां तक कि अगर आप कोई पार्ट टाइम नौकरी कर रहे हैं तो ऑनलाइन क्लास आपके लिए एक बेहतर ऑप्शन हो सकती है ।
  • ऑनलाइन क्लास करने के फायदे में इस बात को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता की इसमें पढ़ाये गए विषय को हम एक से अधिक बार पढ़ सकते हैं जिससे अधिगम का पुनर्बलन आसानी से हो जाता है। जबकि ऑफलाइन क्लास में ऐसा नहीं होता।
Online coaching karne ke fayde aur nuksan

 ऑनलाइन क्लास के 10 नुकसान

ऑनलाइन क्लास के १० नकारात्मक बाते निम्नवत है :-

  • ऑनलाइन क्लास पढ़ने पर हमें शारीरिक रूप से अपनी कक्षा यानी कोचिंग तक नहीं जाना पड़ता है जिससे हम मित्रो, सहपाठीओ व सामाजिकतओ से दूर हो जाते हैं अर्थात एक दृष्टिकोण से देखा जाए तो हमारा सामाजिक बुद्धि का ह्रास होने लगता है जो कि एक आदर्श जीवन के लिए नकारात्मक प्रभाव डालता है।
  • ऑनलाइन कोचिंग करने से हमारी अंतर्मुखी प्रतिभा विकसित होती है इसमें कोई दो राय नहीं। लेकिन हमारी बहिर्मुखी प्रतिभा क्षीण हो जाती है।
  • ऑनलाइन कोचिंग करने से हमारी समायोजन करने की शक्ति का ह्रास हो जाता है क्योंकि हम केवल अकेले अध्ययन करते हैं जबकि ऑफलाइन कोचिंग में हम विभिन्न प्रकार के छात्रों के साथ घुलमिल कर पढ़ाई करते हैं जिससे हम अपनी एकाग्रता को स्थाई बनाने का निरंतर प्रयास करते हैं इस दशा में प्रतियोगिता का भाव भी उत्पन्न होता है ।
  • ऑनलाइन कोचिंग करने से हमारी तत्परता प्रभावित होती है अर्थात महान मनोवैज्ञानिक थोर्नडाईक के नियमानुसार किसी विषय को सीखने के लिए तत्परता का होना बहुत ही आवश्यक है। लेकिन ऑनलाइन क्लास में हम पूर्ण रूप से तत्पर नहीं हो पाते। क्योंकि हमें यह ज्ञात है। कि हम जब चाहे क्लास कर सकते हैं जिससे हमारे अधिगम पर कहीं ना कहीं नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।
  • ऑनलाइन क्लास में अनुशासन ना होने की वजह से, एवं समय का कोई बंधन ना होने की वजह से हमारी सक्रियता शिथिल पड़ जाती हैं और हम पढ़ाई में कम रुचि लेने लगते हैं क्योंकि हमें यह लगता है कि हम इसे कभी न कभी तो जरूर पूर्ण कर लेंगे। और ऐसा करने से हम चीजों को टालने लगते हैं जो कि अधिगम के मामले में उचित नहीं।
  • ऑनलाइन क्लास में हम शिक्षा को विभिन्न परिस्थितियों में ग्रहण करने की कोशिश करते हैं जैसे कि कभी सुबह, कभी शाम और कभी दोपहर तो ऐसे में हम स्थाई रूप से विषयो पर ध्यान केंद्रित नहीं कर पाते।
  • ऑनलाइन क्लास में हमारे मन में पूछने वाले प्रश्नों को निवारण तात्कालिक रूप से नहीं हो पाता, क्योंकि छात्रों की संख्या बहुत अधिक होती है मान कर चलिए अगर 1000 विद्यार्थी ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं तो सभी के मन में उठने वाले प्रश्नों का जवाब अगर गुरुजी देने लगे तो क्लास असंतुलित हो जाएगी और मूल शिक्षा का कार्य बाधित हो जाएगा।
  • ऑनलाइन कक्षा में अनौपचारिकता का प्रभाव अधिक होता है अर्थात हमें औपचारिक रूप से शिक्षा ग्रहण करने का अवसर नहीं मिलता है और ना ही कोई खास अनुशासन होता है जो कि सीखने की दृष्टि से महत्वपूर्ण नहीं है। वास्तव में स्थाई रूप से अधिगम और अर्जन के लिए औपचारिकता एवं अनौपचारिकता बराबर रूप से आवश्यक है लेकिन यह अलग-अलग समय पर होना चाहिए।
  • मंदबुद्धि छात्र या जिन छात्रों की विश्लेषण क्षमता, संश्लेषण क्षमता तथा तर्क शक्ति कम होती है उनके लिए ऑनलाइन क्लास कम उपयोगी होती है क्योंकि उनके पास प्रश्नों की लंबी श्रंखला होती है जिनका जवाब ऑनलाइन कक्षा में संभव नहीं।
  • दोस्तों, यह तो आप ही जानते हैं कि अधिगम और अर्जन में जमीन तथा आसमान का अंतर है और हम ऑनलाइन कक्षा में अधिगम करते हैं ना कि अर्जन। इसलिए अधिगम के लिए सबसे आवश्यक तीन तत्व विशेष वातावरण, विशेष वेशभूषा और विशेष पाठ्यक्रम की आवश्यकता होती है जोकि प्रायः छात्र कभी ध्यान नहीं देते।

🤔 निष्कर्ष 🤷‍♂️

अब आपने अभी तक पढ़ा की आनलाइन क्लास करने में क्या फायदे हैं, क्या नुकसान और मैं यह भी समझता हूं कि अगर हर एक पहलू को ध्यान से समझा जाए तो यह निर्णय कर पाना काफी मुश्किल है कि हमें ऑनलाइन कक्षा पढ़नी चाहिए या नहीं।

लेकिन हमें एक निष्कर्ष तक तो पहुंचना ही पड़ेगा तभी हमारे मन में उठने वाली  जिज्ञासा का निवारण हो पाएगा। आपका सोचना कुछ भी हो सकता है हो सकता है आप ऑनलाइन कोचिंग को बेहतर मानते हो और हो सकता है आप इसे बेहतर ना मानते हो लेकिन आप जो कुछ समझते हैं वह नीचे हमें कमेंट करके बताएं।

जिन लोगों ने अभी तक निर्धारित नहीं कर पाए हैं कि क्या बेहतर है तो उन्हें में बताना चाहूंगा की ऑनलाइन कोचिंग निम्नलिखित शर्तो पर करनी चाहिए अन्यथा नहीं चलिए देखते हैं वो शर्ते क्या है-

  • ऑनलाइन कक्षा में मुख्यतः व्याख्यान विधि का प्रयोग किया जाता है। तो यदि आप व्याख्यान विधि को समझने में सक्षम है तब ही ऑनलाइन पढाई को प्रायिकता दें ।
  • यदि आपकी नजर में ऑफलाइन कोचिंग आप के अनुरूप नहीं है तो आप ऑनलाइन कोचिंग के बारे में सोच सकते हैं।
  • अगर आपको ऑफलाइन कोचिंग में अच्छे शिक्षक और अच्छी कक्षा नहीं मिल रही तो आप ऑनलाइन कोचिंग कर सकते हैं।
  • या फिर आप शारीरिक रूप से अक्षम है और चलने आदि में समस्या होती है तब ऑनलाइन कोचिंग एक बेहतर ऑप्शन हो सकता है।
  • आप पार्ट टाइम जॉब करते हैं और समय का काफी अभाव है तब भी आपके लिए ऑनलाइन कोचिंग उपयुक्त है।

note: ऑनलाइन कक्षा पढ़ने के लिए एक और ध्यान देने योग्य बात है कि आपके पास रोज का इंटरनेट डाटा पर्याप्त होना चाहिए और इंटरनेट की स्पीड भी अच्छी होनी चाहिए तभी आपका शिक्षा का कार्य सुचारू रूप से हो पाएगा।

Online coaching karne ke fayde aur nuksan

प्रिय पाठको, उपर्युक्त जानकारी पढ़ने के बाद मैं आप से उम्मीद करता हूं कि आपको यह जानकारी जरूर अच्छी लगी होगी और अपना सुझाव नीचे हमें जरूर बताएं और ऐसे ही जबरदस्त जानकारियों के लिए gyanwing वेबसाइट पर विजिट करते रहें। धन्यवाद!

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

show
hide